YouTuber ने दिया अक्षय के नोटिस का जवाब, बोला- आरोप वापस लो नहीं तो होगी कानूनी कार्यवाही

बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने हाल ही में अपना नाम सुशांत सिंह राजपूत मामले में घसीटे जाने पर एक यूट्यूबर को 500 करोड़ का मानहानि नोटिस भेजा था। अब यूट्यूबर ने अक्षय कुमार के नोटिस का जवाब देते हुए कहा है कि उसके वीडियो में किसी की भी बदनामी नहीं की गई है इसलिए वह एक्टर द्वारा मांगे गए 500 करोड़ रुपए का हर्जाना नहीं भरेगा। बता दें कि अक्षय कुमार ने दावा किया है कि यूट्यूबर ने अपने वीडियो के माध्यम से उनकी छवि को नुकसान पहुंचाया है।

YouTuber राशिद सिद्दीकी ने दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद एक वीडियो बनाया था जिसमें कथित तौर पर अक्षय कुमार के नाम का भी जिक्र किया गया। शुक्रवार को अक्षय के मानहानि नोटिस का जवाब देते हुए राशिद सिद्दीकी ने दावा किया कि उनके वीडियो में अपमानजनक कुछ भी नहीं था। सिद्दीकी ने अक्षय कुमार से नोटिस वापस लेने का आग्रह किया है। ऐसा न करने पर उन्होंने अक्षय के खिलाफ उचित कानूनी कार्यवाही करने की बात भी कही है।

दरअसल, यूट्यूबर राशिद सिद्दीकी ने अपने वकील जेपी जायसवाल के माध्यम से शुक्रवार को अक्षय कुमार के नोटिस का जवाब देते हुए कहा कि एक्टर द्वारा लगाए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। यह आरोप उन्हें परेशान करने के इरादे से लगाए गए हैं। यूट्यूबर की तरफ से उनके वकील जेपी जायसवाल ने कहा कि हर भारतीय नागरिक के पास अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार सुरक्षित हैं। राशिद द्वारा अपलोड किए गए वीडियो में किसी का अपमान नहीं किया गया है।

बता दें कि अभिनेता अक्षय कुमार ने 17 नवंबर को सिद्दीकी के खिलाफ मानहानि का नोटिस जारी किया था और राजपूत की मौत के मामले में उनके खिलाफ झूठे और बेबुनियाद आरोप लगाने के लिए 500 करोड़ रुपये का हर्जाना मांगा था। अक्षय ने यूट्यूबर को यह नोटिस लॉ फर्म आई सी लीगल के माध्यम से भेजा था। अक्षय ने दावा किया था कि सिद्दीकी ने अपने यूट्यूब चैनल FF News में उनसे जुड़े कई अपवादक, अपमानजनक और झूठे वीडियो पोस्ट किए गए हैं। जवाब में सिद्दीकी ने कहा कि उनके द्वारा वीडियो में दी गई जानकारी पहले से ही सार्वजनिक है।

बता दें कि सिर्फ अक्षय कुमार ही नहीं बल्कि शिवसेना ने भी अब यूट्यूबर राशिद खान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। अक्षय से पहले शिवसेना के कानूनी प्रकोष्ठ के अधिवक्ता धर्मेंद्र मिश्रा ने यूट्यूबर राशिद के खिलाफ केस दर्ज कराया था। हालांकि कोर्ट ने राशिद को राहत देते हुए अग्रिम जमानत दे लेकिन उसे जांच में सहयोग देने का आदेश दिया है। राशिद ने जो पोस्ट साझा की है उसमे मुंबई पुलिस, महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे और अक्षय कुमार को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट की थी, जिसे लाखों लोगों ने देखा था, जिसके बाद आरोपी राशिद के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.