टीसीएस के संस्थापक एफसी कोहली का 96 में निधन

टीसीएस के संस्थापक एफसी कोहली का गुरुवार को निधन हो गया। पद्म भूषण से सम्मानित कोहली ने 96 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। 19 मार्च 124 को जन्मे कोहली को इंडियन आईटी इंडस्ट्री का जनक भी कहा जाता है। सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री के जनक कहे जाने वाले एफसी कोहली ने भारत की प्रौद्योगिकी क्रांति का नेतृत्व किया और टीसीएस के पहले सीईओ के रूप में देश को 100 बिलियन डॉलर के आईटी इंडस्ट्री के निर्माण में मदद की।

एफसी कोहली ने बीए और बीएससी की शिक्षा सरकारी कॉलेज लाहौर (पंजाब विश्वविद्यालय के अंतर्गत) से ली। इसके बाद उन्होंने कनाडा के क्वीन्स विश्वविद्यालय से 1948 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग बीएससी ऑनर्स की डिग्री ली। इसके बाद कोहली ने 1950 में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एमएस भी किया। 

विदेश में पढ़ाई खत्म करने के बाद कोहली 1951 में स्वदेश लौटे। 1951 में कोहली टाटा इलेक्ट्रिक कंपनियों में शामिल हो गए और सिस्टम ऑपरेशन को मैनेज करने के लिए लोड डिस्पैचिंग सिस्टम स्थापित करने में मदद की। साल 1969 में कोहली टीसीएस के जेनरल मैनेजर बने। इसके बाद, वह साल 1970 में कंपनी के निदेशक बने और बाद में उन्हें टीसीएस के पहले सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया।

शानदार टेक्नोक्रेट के रूप में पहचाने जाने वाले कोहली 1991 में आईबीएम को टाटा-आईबीएम के हिस्से के रूप में भारत लाने के निर्णय में सक्रिय रूप से शामिल थे। यह भारत में हार्डवेयर मैन्युफैक्चरिंग के लिए ज्वाइंट वेंचर का हिस्सा था। वहीं, 1994 में वह कंपनी के डिप्टी चेयरमैन के रूप में जिम्मेदारी संभाली। इसके बाद साल 1999 में वह 75 साल की उम्र में सेवानिवृत्त हुए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.