कदम बढ़ाए स्वरोजगार अपनाएं : मधु प्रोसेसिंग प्लांट लगाये ऋण सुविधा के साथ छूट भी पायें

भूपेश मांझी-अगर आपको लगता है कि कोरोना महामारी के दौरान कुछ नहीं हो सकता है, तो आप गलत हैं। ऐसे कई काम हैं, जो आप शुरू कर सकते हैं। बस जानकारी का अभाव होता है। लेकिन हम यहां पर आपको ऐसा काम बताने जा रहे हैं, जिसमें सरकारी मदद भी मिलती है। अगर इस स्कीम के तहत काम शुरू किया जाए तो आसानी से औसतन 1 लाख रुपये महीने से ज्यादा कमाई शुरू हो सकती है। हालांकि यह काम शुरू करने में कई लाख रुपये लगते हैं, लेकिन बाकी पैसा स्कीम के तहत आपको दिया जाता है। अगर आप अपना काम शुरू करना चाहते हैं, तो आइये जानते हैं क्या है यह काम और कैसे शुरू कर सकते हैं।

यह काम है हनी प्रोसेसिंग प्लांट अगर आप अपना काम शुरू करना चाह रहे हैं तो सरकार के सपोर्ट से आप हनी आउस और हनी प्रोसेसिंग प्लांट का कारोबार शुरू कर सकते हैं।

इस कारोबार में केंद्र सरकार लोगों का पूरा सपोर्ट करती है। वहीं इससे अच्छी कमाई भी होती है। अनुमान के अनुसार यह कमाई औसतन 1 लाख रुपये महीने से ज्यादा ही होती है। इसके अलावा शहर की डिमांड हरदम ही बनी रहती है। जिससे धंधे में मंदा नहीं आता है।

क्या है हनी प्रोसेसिंग प्लांट की सरकारी स्कीम

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रम मंत्रालय ने इसके लिए योजना तैयार की है। इस योजना के तहत खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने पिछले 2 साल से भी कम समय में देश में हजारों लोगों को बिजनेस शुरू करने में मदद की है। इस योजना के तहत मधुमक्खी पालने के लिए 1 लाख से अधिक बक्से दिए गए हैं। केवीआईसी ने यह हनी मिशन के तहत किया है। अगर आप अपना व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो हनी प्रोसेसिंग प्लांट लगा सकते हैं। केंद्र सरकार ग्रामीण इलाकों में रोजगार बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर शहद के उत्पादन को प्रोत्साहन दे रही है।

2 लाख रुपये से शुरू हो सकता है हनी प्रोसेसिंग प्लांट

खादी एवं विलेज इंडस्‍ट्रीज कमीशन (केवीआईसी) के अनुसार, अगर आप 20 हजार किलोग्राम सालाना का हनी प्लांट बनाना चाहते हैं, तो इस पर करीब 24.50 लाख रुपये की लागत आएगी। इसमें से करीब 16 लाख रुपये का लोन आपको दिया जाता है। जबकि मार्जिन मनी के रूप में 6.15 लाख रुपये दिए जाते हैं। बाकी यानी करीब 2.35 लाख रुपये आपको अपनी तरफ से लगाने होते हैं। इस पूरे प्लान को इस तरह से भी समझा जाता है कि अगर आप इस योजना के तहत हनी प्रोसेसिंग प्लांट लगाना चाहते हैं, तो केवीआईसी आपको 65 फीसदी लोन दिलाएगा। इसके अलावा खादी ग्रामोद्योग आपको 25 फीसदी सब्सिडी भी देगा। बाकी बचे करीब 10 फीसदी पैसे आपको लगाने होंगे।

जानिए हनी प्रोसेसिंग प्लांट से कितनी हो सकती है कमाई

केवीआईसी के अनुसार, सालाना में 20 हजार किलोग्राम हनी यानी शहद तैयार करने का प्लांट लगाया जाता है। यह शहद करीब 250 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बिकता है। इस प्रकार यह कुल मिलाकर करीब 48 लाख रुपये का बिकेगा। इसमें अगर 4 फीसदी वर्किंग लॉस और अन्य खर्च को जोड़ा जाए तो यह करीब 34.15 लाख रुपये होता है। अब इस खर्च को अगर कुल कमाई से घटा दिया जाए तो यह करीब 13.85 लाख रुपये होता है। अगर इस कमाई को महीने के हिसाब से देखा जाए तो यह 1 लाख रुपये महीने से ज्यादा होता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.