रायपुर, बिलासपुर में रात आठ बजे तक खुली रहेंगी दुकानें..

रायपुर/ बिलासपुर- कोरोना संक्रमण के चलते 21 से 28 सितंबर तक रायपुर और बिलासपुर में लगाए लॉकडाउन को खत्म कर दिया गया है। दोनों शहरों में आज से बाजार खुलेगा। अब रविवार को भी पूर्ण लॉकडाउन खत्म कर दिया गया है। सराफा, कपड़ा, ऑटोमोबाइल, किराना व सुपर बाजार, इलेक्ट्रॉनिक्स समेत सारे संस्थान खुल जाएंगे, लेकिन दुकानें और प्रतिष्ठान रात्रि आठ बजे तक ही खोले जा सकेंगे। दुकान संचालकों को कोरोना के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगा। इस बार सभी दुकानों व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद करने का समय रात्रि आठ बजे है।

दोनों जिलों के प्रशासन के अधिकारियों के अनुसार सुबह किसी भी समय कारोबारी दुकानें खोल सकते हैं, लेकिन रात्रि में आठ बजे तक बंद करना ही होगा। इससे पहले हालांकि सभी प्रतिष्ठानों के खुलने व बंद होने का समय अलग-अलग था। जिला प्रशासन ने लॉकडाउन हटाने के साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों पर जुर्माना लगाने की भी बात कही है। रेस्टोरेंट, होटल 10 बजे रात तक खुले रहेंगे। इसी तरह होम डिलीवरी भी 10 बजे रात तक की जा सकेगी। डीजल-पेट्रोल अब सभी को मिलेगा और दवा दुकानें पूर्ववत खुली रहेंगी।

तो लगेगा जुर्माना

सार्वजनिक स्थलों पर मास्क या फेस कवर नहीं पहनने की स्थिति में 100 रुपये, होम क्वारंटाइन के दिशा निर्देशों का उल्लंघन किए जाने की स्थिति में 1000 रुपये, सार्वजनिक स्थलों पर थूकते हुए पाए जाने की स्थिति में 100 रुपये, दुकानों या व्यावसायिक संस्थानों के मालिकों द्वारा शारीरिक दूरी का उल्लंघन किए जाने की स्थिति में 200 रुपये से दंडित किया जाएगा। यदि नियमों का उल्लंघन करने वाले किसी व्यक्ति द्वारा जुर्माना देने से मना किया जाता है तो संबंधित के खिलाफ एपिडेमिक डिसीजेज एक्ट, 1897 यथा संशोधित 2020 सहपठित छत्तीसगढ़ एपिडेमिक डिसीजेज कोविड-19 रेगुलेशन 2020 के रेगुलेशन 14 एवं भारतीय दंड सहिता, 1860 की धारा 188 के अधीन संबंधित पुलिस थाना में एफआइआर दर्ज कराई जाएगी। यदि किसी दुकान या व्यावसायिक संस्थान में दूसरी बार उल्लंघन पाया जाता है तो उक्त दुकान या व्यावसायिक संस्थान को आगामी 15 दिवस के लिए सील कर दिया जाएगा।

कारोबारियों में उत्साह

कपड़ा, सराफा समेत अन्य सभी कारोबारियों ने जिला प्रशासन के इस निर्णय का स्वागत किया है। पंडरी थोक कपड़ा व्यवसायी संघ के अध्यक्ष चंदर विधानी का कहना है कि रात्रि आठ बजे तक दुकानें संचालित करने का समय काफी अच्छा है। अगले महीने से त्योहारी सीजन भी शुरू हो रहा है। ऐसे में लॉकडाउन खोला जाना जरूरी था।

कलेक्टर और एसपी ने की अपील- अनावश्यक घर से बाहर न निकलें लोग

कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन और पुलिस अधीक्षक अजय यादव ने रायपुर जिले में रहने वाले लोगों से अपील की है कि वे अनावश्यक अपने घर से बाहर न निकलें। किसी काम से बाहर जाने पर मास्क पहन कर जाएं और शारीरिक का पालन करें। उन्होंने एक सप्ताह के लॉकडाउन का पालन करने पर आम नागरिकों का आभार माना है। कलेक्टर और एसपी ने अपनी अपील में कहा है कि कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को बाधित करने के लिए एक सप्ताह का लॉकडाउन लगाया गया था। इसमें आप सभी का भरपूर सहयोग रहा है और उम्मीद है कि इसके सकारात्मक परिणाम आएंगे, लेकिन हम सभी की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है, क्योंकि लॉकडाउन हटने के बाद प्रशासनिक नियंत्रण में ढील होने के बाद हमें आत्म-नियंत्रण एवं जागरूकता के माध्यम से कोरोना के संक्रमण से बचना होगा। उन्होंने कहा है कि आपकी थोड़ी-सी लापरवाही घातक और जानलेवा हो सकती है। यह महामारी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता से जुड़ी हुई है, कमजोर प्रतिरोधक क्षमता और असाध्य बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए यह महामारी जानलेवा सिद्ध हो रही है। अतः समाज की बेहतरी के लिए अभी भी उतना ही घर से बाहर निकलें, जितना कि अत्यंत आवश्यक हो और पूर्ण सुरक्षा के साथ ही निकलें। उधर बिलासपुर के कलेक्टर डॉ सारांश मित्तर और पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने भी अपील की है कि लोग बेवजह घर से बाहर न निकलें ताकि व्यापार व्यवसाय भी चलता रहे और भीड़-भाड़ न बढे़। इस समय में लोगों को खुद की सुरक्षा की जिम्मेदारी इसी तरह उठानी होगी कि वे फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.