साहित्य साधना सभा परिवार ने मनाई त्रिकुटी स्थल में आँवला पूजन

भूपेश मांझी-कार्तिक माह हिन्दू मान्यताओं के अनुसार सबसे पवित्र माह के रूप में माना जाता है,इस माह में दीपावली पूजन से लेकर महीने भर सुबह सुबह कार्तिक नहाने की परंपरा निभाई जाती है। साहित्य साधना सभा के प्रांतीय सचिव व सहसंस्थापक सुन्दर लाल डड़सेना मधुर ने बताया कि कार्तिक माह में धनतेरस से शुरू पर्व में छोटी दीवाली,दीपावली,गोवर्धन पूजा,भाई दूज,आँवला नवमी,देवउठनी एकादशी और आँवलातली के साथ ही साथ कार्तिक पूर्णिमा को दीपदान से गुरुनानक जयंती मनाया जाता है।

ग्राम बाराडोली बालसमुंद में आँवलातली पर जगह जगह भंडारा का आयोजन किया गया था,जिसमें लोगों को महाप्रसाद का वितरण किया गया व आँवला वृक्ष पर श्रृंगार चढ़ा कर परिक्रमा के साथ आरती की गई।बाराडोली में जगन्नाथ मंदिर,बाजार पारा व कीर्तन मंडली चिंगरीडीपा के साथ ही साथ त्रिकुटी स्थल भी में महाप्रसाद का वितरण किया गया,त्रिकुटी स्थल के कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुन्दर लाल डडसेना,राजेश कुमार मिश्रा,तरुण कुमार पटेल,शोभारानी,गायत्री,सुनीता,गार्गी व नव्या डडसेना मुख्य रूप से शामिल हुए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.