रायपुर; भीड़ बुलाकर किया चाकू से हमला, ट्रक ड्राइवर को साइड न देने की बात पर रास्ता रोककर पीटा

रायपुर शहर में एक के बाद एक आए दिन चाकूबाजी की घटनाएं सामने आ रही हैं। अब राह चलते एक ट्रक ड्राइवर पर कुछ बदमाशों ने हमला कर दिया। घटना मंगलवार देर रात की है। आरोपियों ने साइड न देने की बात को लेकर ट्रक ड्राइवर पर हमला कर दिया। और इसे चाकू मारकर भाग गए। सड़क पर अकेला ट्रक ड्राइवर अपना वाहन लेकर बड़ी मुश्किल से पुलिस के पास पहुंचा और मदद मांगी। अब टिकरापारा थाना की पुलिस इस घटना की जांच कर रही है।

ट्रक ड्राइवर अशोक साहू ने बताया कि वह धमतरी का रहने वाला है। मंगलवार की रात वो पांडुका से रेत लेकर रायपुर के सिलतरा इलाके में डिलिवरी देने जा रहा था। देवपुरी के पास पहुंचते ही दो बाइक सवार युवकों ने इसके ट्रक के सामने अपनी बाइक रोक दी। हड़बड़ाकर अशोक ने ब्रेक लगाया। युवकों ने ट्रक से खींचकर अशोक को उतारा और साइड न देने की बात पर बदसलूकी करने लगे। अशोक ने बताया कि युवकों की बाइक की हेडलाइट नहीं जल रही थी, जिस वजह से उसे पीछे से आए इन युवकों के बारे में पता नहीं चला।

देखते ही देखते युवकों ने भीड़ जुटा ली और अशोक को लूटने की कोशिश करने लगे। भीड़ ने ट्रक ड्राइवर को घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी। अपना बचाव करते हुए अशोक ने गलती मानी और छोड़ने की गुहार लगाता रहा, मगर भीड़ ने इसकी एक नहीं सुनी। एक युवक ने बटन वाला चाकू निकालकर अशोक पर हमला कर दिया। पहले हमले में चाकू अशोक को नहीं लगा लेकिन दूसरा वार अशोक की जांघ पर किया गया । धारदार चाकू पैर के मांस को फाड़कर निकल गया और तीसरा वार अशोक के दाहिने हाथ पर किया गया। अशोक ने युवकों को धमकाया कि अब वह पुलिस के पास जा रहा है यह सुनते ही सभी युवक वहां से भाग गए।

भीड़ में युवक ट्रक में तोड़फोड़ करने की कोशिश भी कर रहे थे। मगर कामयाब नहीं हुए। घायल अवस्था में अशोक ने ट्रक चलाया । पैर से लगातार खून बह रहा था। वो पचपेड़ी नाका के पास पहुंचा और स्थानीय पुलिस से मदद मांगी। यहां से पैट्रोलिंग टीम ने उसे टिकरापारा थाना पहुंचाया। टिकरापारा की पुलिस ने एक टीम को घटना स्थल पर रवाना किया लेकिन तब तक वहां से सभी युवक भाग चुके थे। अब अशोक की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। करीब 10 दिन पहले भाटागांव के पास एक ट्रक ड्राइवर को चाकू की नोक पर लूट लिया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.