कोरबा; अंतराष्ट्रीय बाल दिवस के अवसर पर एमसीसीआर एवं यूनिसेफ के तत्वाधान में 6 वर्षीय आदित्य शर्मा बने एक घँटे के लिए पाली थानेदार, कहा आईएस बनकर करना चाहता हूँ देश की सेवा

भूपेश मांझी/पाली-बीते 14 नवंबर को विश्व बाल दिवस के अवसर पर एमसीसीआर (मीडिया कलेक्टिव फॉर चाइल्ड राइट) एवं यूनिसेफ के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम के तहत पाली पटेल मोहल्ला निवासी 6 वर्षीय आदित्य शर्मा को बीते 20 नवंबर को एक घँटे के लिए प्रतीकात्मक रूप से पाली थानेदार बनाकर उनकी कुर्सी पर बैठाया गया तथा थाने की गतिविधियों के बारे में अवगत कराते हुए बाल अधिकारों की भी जानकारी दी गई।इस दौरान थाना प्रभारी निरीक्षक लीलाधर राठौर द्वारा भविष्य में कुछ बनने की चाह के बारे में पूछे जाने पर आदित्य ने कहा कि वह पढ़लिखकर एक बेहतर आईएस बनकर देश की जी जान से सेवा करना चाहता है।आदित्य ने आगे कहा कि आज उसे कानून और पुलिस के अधिकारों के बारे में काफी कुछ जानने- समझने का मौका मिला कि कैसे वर्दी में रहकर कानून का पालन कराने के साथ- साथ आमजन की सेवा तथा उनके अधिकारों के लिए कार्य किया जाता है।आदित्य के विचार व बातों को सुनकर थाना स्टाफ ने मुक्तकंठ से सराहना की एवं निरीक्षक लीलाधर राठौर ने भी प्रशंसा करते हुए कहा कि खूब पढ़लिखकर भविष्य में एक बड़ा मुकाम हासिल करो।टीआई श्री राठौर ने एमसीसीआर एवं यूनिसेफ के इस प्रयास के लिए बधाई दी और उन्होने विश्व बाल दिवस के अवसर पर खुद भी हमे भविष्य में सहयोग करने व बाल अधिकारों के हक में किये जा रहे प्रयास पर अपना सहयोग प्रदान किये जाने की बात कही।उन्होंने आगे कहा कि ऐसे शिक्षाप्रद कार्यक्रमों से बच्चों का मनोबल बढ़ता है तथा वे बेहतर सोंच के साथ लक्ष्य आधारित दिशा की ओर आगे बढ़ते है।

बता दें कि एक घँटे के लिए पाली थानेदार बनने वाले आदित्य शर्मा उर्फ हनु कथावाचक एवं लाफागढ़ के राजपुरोहित मुरली मनोहर शर्मा तथा कथावाचिका व गायिका श्रीमती हेमलता शर्मा के पौत्र और युवा पत्रकार व समाजसेवी दीपक शर्मा के पुत्र है।जिन्हें विश्व बाल दिवस के मौके पर एमसीसीआर एवं यूनिसेफ के तत्वाधान में घँटे भर के लिए पाली थानेदार बनाए जाने के दौरान निरीक्षक लीलाधर राठौर के अलावा सहायक उपनिरीक्षक पुष्पक सिंह ठाकुर, प्रधान आरक्षक अश्वनी निरंकारी, अमर सिंह, जवाहर सिंह, सुनील पांडेय, आरक्षक नरेंद्र पाटनवार, तेज प्रकाश, संजय साहू, शैलेन्द्र तंवर, प्रेम कंवर, हिमांचल सिंह, आनंद पुरैना, संजय डिक्सेना प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।साथ ही इस अभिनव प्रयास के लिए जिला पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा का विशेष योगदान रहा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.