क्राइम पेट्रोल देख सीखा हत्या का तरीका, दो आरोपियों ने ले ली बच्चे की जान

पिछले दिनों गांव रघुपुरा में छह वर्षीय बालक की हत्या का पुलिस ने राजफाश करते हुए दो बाल अपराधियों को पकड़ा है। कम मजदूरी मिलने से नाराज दोनों अपराधियों ने क्राइम पेट्रोल और सीआईडी जैसे सीरियलों से आइडिया लेकर पहले बच्चे का अपहरण किया, फिर गला दबाकर हत्या कर दी थी। बाद में हादसा दिखाने के लिए कपड़े और चप्पल उतारकर शव को नलकूप की कुंडी में फेंक दिया था।

पुलिस के अनुसार पूछताछ में दोनों बाल अपराधियों ने बताया कि रघुपुरा निवासी नीटू उर्फ बालिस्टर पुत्र मिट्ठन उन दोनों से अपने खेतों में सुबह से शाम तक काम कराता था। बदले में मजदूरी के नाम पर कभी 30 तो कभी 50 रुपये ही देता था। इसके साथ ही उनका उत्पीड़न करता था।

इसी बात का बदला लेने के लिए 13 फरवरी को घने कोहरे का फायदा उठाते हुए एक बाल अपराधी ने बच्चों के साथ गांव के बाहर समाधि के पास खेल रहे नीटू के 6 साल के बेटे आदित्य का अपहरण किया और सरसों के खेत में ले जाकर दूसरे के हवाले कर दिया। इसके बाद दोनों ने मिलकर बच्चे की गला दबाकर हत्या कर दी। शव को प्लास्टिक की बोरी में भरकर छिपा दिया।

उधर बच्चे के लापता होने का क्षेत्र में हल्ला मचा। चर्चा फैली कि एक तांत्रिक ने शव नलकूप की कुंडी में मिलने की बात परिवार वालों से कही है। इस पर दोनों ने रात के अंधेरे में शव को बोरी से निकाला। कपड़े और चप्पल उतारकर नगला बल्देव निवासी हरेंद्र पुत्र सूरजपाल के नलकूप की कुंडी में शव डाल दिया था, ताकि हादसा नजर आए। 15 फरवरी को शव बरामद हुआ था। दोनों अपराधियों को पुलिस ने अदालत के आदेश पर जेल भेज दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.