Budget 2021; बजट में मिलेगा किसानों को तोहफा, पढ़िए पूरी खबर

1 फरवरी को पेश होने वाला बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का तीसरा बजट होगा. किसानों को उम्मीद है कि वित्त मंत्री उनके लिए कुछ खास ऐलान करेंगी. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो खबर है कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi) की रकम में इजाफा किया जा सकता है. अभी किसानों को इस स्कीम के जरिए सालाना 6,000 रुपये उनके खातों में डायरेक्ट ट्रांसफर किए जाते हैं. अब खबर ये है कि इस रकम को बढ़ाया जा सकता है।

दरअसल, किसानों की सरकार से मांग है कि ये रकम खेती-किसानी के खर्चों को पूरा करने के लिए काफी कम है. सालाना 6,000 रुपये का मतलब हुआ महीने का 500 रुपये. इसलिए रकम को और बढ़ाया जाए. किसानों का कहना है कि 1 एकड़ में धान की खेती पर 3-3.5 हजार रुपये का खर्च आता है. जबकि गेहूं की खेती पर 2-2.5 हजार रुपये खर्च होते हैं. जिन किसानों के पास इससे ज्यादा जमीन होती है उनके लिए 6,000 रुपये की रकम काफी कम है. इसलिए इस राशि को और बढ़ाया जाए ताकि खर्चों को पूरा किया जा सके।

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए कृषि के लिए बजट आवंटन 1.51 लाख करोड़ रुपये था, जिसे मामूली बढ़ाकर वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 1.54 लाख करोड़ कर दिया गया. इसके अलावा ग्रामीण विकास के लिए आवंटन भी 2019-20 में करीब 1.40 लाख करोड़ रुपये की तुलना में 2020-21 में बढ़ाकर 1.44 लाख करोड़ रुपये कर दिया गया. पीएम कृषि सिंचाई योजना के तहत 2019-20 में 9682 करोड़ से बढ़ाकर 2020-21 में 11,127 करोड़ रुपये और पीएम फसल बीमा योजना के तहत 2019-20 में 14 हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर 2020-21 में 15,695 करोड़ रुपये कर दिया गया।

सरकार ने 1 दिसंबर 2018 को किसानों की मदद के लिए पीएम किसान स्कीम की शुरुआत की थी. अबतक इसकी सात किस्तें जारी हो चुकी हैं. पीएम मोदी ने इस स्कीम के तहत 18,000 करोड़ रुपये की एकमुश्त रकम जारी की है. केंद्र सरकार के मुताबिक अब तक इस स्कीम के तहत 10.60 करोड़ किसानों को 95,000 करोड़ रुपये की रकम जारी की जा चुकी है।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना 2021 की नई सूची को सरकारी वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाकर देख सकते हैं. इसके अलावा अगर आपको लाभार्थी अपनी स्थिति की ऑनलाइन जांच के साथ ऑनलाइन अपना नाम जोड़ने का आवेदन भी कर सकते हैं. कोरोना वायरस के चलते देशभर में जारी लॉकडाउन के चलते राजस्व विभाग के पटवारी/अधिकारी गांवों और तहसीलों का दौरा नहीं कर पा रहे हैं इसलिए सरकार ने ऑनलाइन नाम जोड़ने की प्रक्रिया को आसान किया है।

मोदी सरकार की यह सबसे बड़ी किसान स्कीम है इसलिए किसानों को कई तरह की सहूलियतें भी दी गईं हैं. इसी में एक है हेल्पलाइन नंबर. जिसके जरिए देश के किसी भी हिस्से का किसान सीधे कृषि मंत्रालय से संपर्क कर सकता है. पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266 पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261, पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401, पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109, ई-मेल आईडी: pmkisan-ict@gov.in है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.