बिलासपुर; कार के दरवाजों और सीट के नीचे भरकर गांजे की तस्करी, महिला सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया

छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में पुलिस ने मादक पदार्थों की तस्करी करते महिला सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों से पुलिस ने 25 किलो गांजा बरामद किया है। उसकी कीमत 17.50 लाख रुपए बताई जा रही है। आरोपियों ने कार की सीट और दरवाजे में गांजा के पैकेट छिपाकर रखे थे। कार्रवाई गौरेला थाना पुलिस ने मंगलवार देर रात की है।

पुलिस को मंगलवार रात सूचना मिली कि एक कार गौरेला की ओर आ रही है। इसके जरिए गांजा की तस्करी की जा रही है। इस पर पुलिस ने बाइपास रोड और अन्य रास्तों पर नाकाबंदी की। देर रात सधवानह सारबहरा की ओर से सफेद रंग की वैगन आर कार आती हुई दिखाई दी। चेक प्वाइंट पर उसे रुकने का इशारा किया, लेकिन ड्राइवर ने स्पीड बढ़ा दी और भागने लगा।

इस पर पुलिस ने पीछा किया और ओर ब्रिज पर घेराबंदी कर कार रुकवा ली। कार में एक महिला और पुरुष बैठे हुए थे। नाम-पता पूछने पर गांग पुर निवासी हरि सिंह अगरिया और लालपुर निवासी पिंकी राठौर बताया। कार की तलाशी ली गई, लेकिन कुछ मिला नहीं। सूचना के आधार पर संदेह होने के चलते कार के पीछे की सीट खुलवा कर तलाशी ली तो वहां गांजा के पैकेट भरे हुए थे।

इसके बाद पुलिस ने और चैकिंग की तो कार के सभी दरवाजों और पीछे डिक्की में भी छिपाए गए पैकेट को बरामद हुए। पुलिस ने सभी पैकेट बाहर निकाले तो पता चला कि 40 पैकेट बनाकर 25 किलो गांजा भरा गया था। बरामद गांजा की कीमत 17.50 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है। अभी यह पता नहीं चल सका है कि गांजा कहां से लाया जा रहा था और इसे कहां पहुंचाना था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.