प्रेमिका पत्नी के कहने पर, प्रेमी ने धारदार हथियार से, गला रेतकर पति को मौत के घाट उतारा

राजस्थान से एक के बाद एक हत्या के मामले सामने आ रहे हैं। राज्य के सीकर जिले के दांतारामगढ़ में एक पत्नी ने अपने ही पति के हत्या करवा दी। उसने अपने प्रेमी से कहा था कि जब तक तू मेरे पति की हत्या नहीं करेगा, तब तक मैं तेरे साथ नहीं चलूंगी।

इस बात पर श्रीरामपुरा गांव के निवासी 22 वर्षीय बनवारी लाल ने अपने बुआ के पोते खाचरियावास गांव के रहने वाले 25 वर्षीय कृष्ण कुमार रैगर के साथ मिलकर नागौर जिले के बड़ का चारणवास गांव निवासी 33 वर्षीय बोदूराम की गला रेतकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि मृतक के सिर व गले में धारदार हथियार से दिए गए चोट के निशान थे।

पुलिस के अनुसार, मृतक बोदूराम रंगाई- पुताई का काम करता था। बनवारी लाल ने उसे काम के बहाने सोमवार शाम को फोन कर घाटवा गांव बुलाया। इस पर बोदूराम घर वालों को बताकर चला गया। इसके बाद हत्यारों ने मंगलवार तड़के बोदूराम की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी।

इस बात पर अभी संशय है कि आरोपियों ने बोदूराम की हत्या कहां की। गांव वालों को उसका शव बड़ का चारणवास से दांतारामगढ़ की ओर जाने वाले मार्ग पर दो किमी दूर बालाजी मंदिर के सामने पड़ा मिला। मामले में आरोपियों से पुलिस की पूछताछ जारी है।

एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने प्रेस काॅन्फ्रेंस कर बताया कि मृतक के परिजन सोमवार रात से उसकी तलाश करते रहे थे। मंगलवार तड़के उन्हें बोदूराम की हत्या की जानकारी मिली। ऐसे में मृतक के भाई जगदीश प्रसाद ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सूचना पर पहुंची नीमका थाना पुलिस ने शव को दांता सीएचसी में रखवाया।

शक होने पर पुलिस ने मृतक की पत्नी लक्ष्मीदेवी से गहनता से पूछताछ की। ऐसे में उसने पुलिस के सामने हत्या की साजिश की बात स्वीकार कर ली। वह दो साल से अपने मायके काटिया में ही रह रही थी। उसका दो साल का बेटा भी है। उसने पुलिस को बताया कि वह बोदूराम के साथ नहीं रहना चाहती थी। इसलिए उसने प्रेमी बनवारी लाल से कहा कि जब तक तू मेरे पति की हत्या नहीं करेगा, तब तक मैं तेरे साथ नहीं चलूंगी। उसने बताया कि इस हत्या में बनवारी की बुआ का पोता कृष्ण कुमार रैगर भी शामिल है।

पूछताछ में जुर्म कबूल करने पर पुलिस ने पहले लक्ष्मी देवी को गिरफ्तार किया। इसके बाद पुलिस की एक टीम ने कृष्ण रैगर को खाचरियावास गांव से तो बनवारी लाल को जयपुर से दबोच लिया। बता दें, दांतारामगढ़ में चार दिन पहले भी एक युवक ने अपने चचेरे भाई की गला रेत कर हत्या कर दी थी। करड़ गांव में कैलाश चंद रैगर ने अपने ही चाचा के 13 वर्षीय बेटे उत्तम का ब्लेड से गला काट दिया था, जिसका लाइव वीडियो भी सामने आया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.